समर्थक

बुधवार, 21 जनवरी 2015

शिव पुराण ४ : बारह ज्योतिर्लिंग

शिव जी की पूजा आराधना लिंग रूप में होती है।  भक्त प्रभु के लिंग की स्थापना करते हैं और अर्चना करते हैं।  वैसे तो बहुत से शिवलिंग प्रसिद्ध हैं, किन्तु बारह प्रमुख हैं। ये बारह ज्योतिर्लिंग संसार भर में विख्यात हैं और इन के दर्शन करने का बहुत महत्व माना गया है (लिंक)।  ये हैं :

१.  सोमनाथ जी (गुजरात)
२. मल्लिकार्जुन स्वामी (श्रीशैला) (आंध्र)
३. महाकालेश्वर (म.प्र)
४. ओंकारेश्वर (म.प्र)
५. केदारनाथ जी (उत्तराखंड)
६. भीमशंकर महादेव (महाराष्ट्र)
७. काशी विश्वनाथ जी (उ.प्र)
८. त्रिम्बकेश्वर (महाराष्ट्र)
९. वैद्यनाथ जी (झारखंड)
१०. नागेश्वर (गुजरात)
११. रामेश्वरम (तमिल नाडु)
१२. घृष्णेश्वर  (महाराष्ट्र)

 अगले भाग से ज्योतिर्लिंगों की कथाएँ होंगी। 



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें